Band Training

छात्रों में एकता, अनुशासन सद्भाव और लालित्य – को विकसित करने के लिएए इसमें रूचि रखने वाले छात्रों को घोष- वादन का विशेष प्रशिक्षण दिया जाता है। जिसमें सेना के बैण्ड की तर्ज पर शंख, वंशी व आणक वाद्य से युक्त भारतीय धुनों पर आधारित संगीत में प्रवीणता शमिल है। विद्यालय के घोष दल का राष्ट्रीय उत्सवों व विशेष कार्यक्रमों में स्वागत एवं शारीरिक प्रदर्शन किया जाता है। विद्यालय के घोषदल न अनेक बार राज्य सरकार द्वारा आयोजित कार्यक्रमों में भी अपनी कला का प्रदर्शन समाज के सम्मुख किया है

×